खानपुर रेंज में बढ़ाई गई कर्मचारियों की संख्या, शिकारी की सूचना देने वाले को मिलेगा इनाम

आरिफ नियाज़ी

रुड़की – की खानपुर वन रेंज अक्सर वन माफियाओं और शिकारियों को लेकर चर्चा में रहती है खानपुर वन रेंज विभागीय अधिकारियों के लिए एक चुनौती बन चुकी है आए दिन पेड़ों के कटान और शिकार के मामले सामने आने से विभाग के अधिकारी भी परेशान हैं आलम यह है कि खानपुर और रूड़की रेंज से धीरे धीरे कीमती लकड़ी के पेड़ों का सफाया हो चुका है। फिलहाल अधिकारियों ने ऐसे मामलों को गम्भीरता से लेते हुए शासन को अपने कर्मचारियों को हाईटेक करने के लिए प्रस्ताव भेजा है जल्द ही शासन से इस प्रस्ताव को मंज़ूरी मिलने के आसार है। रुड़की और खानपुर रेंज के वन कर्मियों को हाइटेक किया जाएगा जंगल में कर्मचारियों को ट्रेनिंग देकर उनको आधुनिक हथियार दिए जाएंगे।गौरतलब है कि उत्तराखंड का लगभग 70 प्रतिशत भाग वन भूमि से भरा है जिसके चलते यहां वन्य जीव बड़ी संख्या में पाए जाते हैं । खानपुर और रुड़की रेंज में आए दिन वन माफिया कीमती पेड़ों को अपना निशाना बनाते हैं जिसकी भनक विभागीय अधिकारियों को भी नहीं लग पाती है। रुड़की रेंज के इब्राहिमपुर गांव से बेशकीमती खैर की लकड़ी को वन माफिया अपना निशाना बना चुके है देर रात में सैंकड़ो खैर की लकड़ी पेड काटकर माफियाआसानी से निकल जाते हैं। ऐसा ही नजारा खानपुर वन रेंज का है यहां पिछले लंबे समय से वन माफिया कीमती लकड़ी को चोरी करने के काम मे जुटे हैं कई बार फारेस्ट कर्मचारियों के साथ उनकी मुठभेड़ तक हो चुकी है लेकिन पुराने हथियारों के चलते वन कर्मचारी वन माफियाओं का मुकाबला नहीं कर पाते हैं जिसके चलते वन माफिया और शिकारी वन विभाग के लिए बडी चुनोति साबित हो रहे हैं आलम ये है कि खानपुर रेंज में सबसे अधिक शिकार की खबरें सामने आतीं हैं सोलानी नदी पास होने के कारण शिकारियों का भी रुख इस रेंज पर अधिक है।

आए दिन काफी जानवर शिकारियों कि गोली से घायल हुए देखे जा सकते हैं जिसको देखते हुए अब वन विभाग ने बड़ा कदम उठाया है । रुड़की एसडीओ देवेंद्र प्रसाद बौड़ाई ने बताया कि खानपुर रेंज सबसे अधिक अतिसंवेदनशील है जहां पर कुछ कैमरे लगा दिए गए है शिकारियों और वन माफियाओं पर शिकंजा कसने के लिए कर्मचारियों को आधुनिक हथियारों कि भी ट्रेनिंग दी जाएगी । हथियारों के लिए कई बार प्रस्ताव भेजे गए लेकिन इस बार भी शासन को प्रस्ताव भेज दिया गया है एसडीओ देवेंद्र प्रसाद बौड़ाई ने बताया कि शिकारियों की आमद को देखते हुए मुखबिर और अपने कुछ सूत्रों को भी लगाया गया है जिनका नाम गोपनीय रखा जायेगा लेकिन उन्हें विभाग द्वारा इनाम दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि नए साल और होली दीपावली के साथ साथ त्योहारों पर शिकारी सतर्क हो जाते हैं । इसलिए खानपुर वन रेंज में शिकारियों और वन माफियाओं की आमद को देखते हुए कर्मचारियों की संख्या बढ़ाई गई है। फिलहाल वृक्षारोपण का कार्य भी तेजी के साथ चल रहा है। रेंज में हर आने जाने वाले पर कर्मचारी गहरी नज़र भी रखते हैं।एसडीओ ने बताया कि बुग्गावाला के आसपास के क्षेत्र मे विशेष सतर्कता बरतने की आवश्यकता है । जो भी जंगल का क्षेत्र है उसमें हर समय कर्मचारी मौजूद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.