राव अबूबकर ने नीट परीक्षा पास कर किया गांव का नाम रोशन, जनप्रतिनिधियों ने भी दी राव को बधाई

आरिफ नियाज़ी

रूडकी देशभर की नीट परीक्षा में प्रतिभावान छात्रों ने जहां जमकर जलवे बिखेरे हैं वहीं हरिद्वार ज़िले के खेड़ी शिकोहपुर गांव निवासी राव अबूबकर ने भी नीट परिक्षा में 720 नंबर में से 581 नंबर लाकर परीक्षा में बेहतर स्थान हासिल किया है। राव अबूबकर ने नीट परीक्षा में हाई परसेंटेज लाकर अपना और अपने परिवार का नाम रोशन किया है वहीं राव अबूबकर की चारों ओर इस सफलता की काफी सराहना भी हो रही है। राव अबूबकर ने खेडी शिकोहपुर गांव का ही नहीं बल्कि उत्तराखंड का नाम रोशन किया है।

अबूबकर पढ़ाई में शुरू से ही काफी होनहार था उसने हाईस्कूल की परीक्षा में 9.8 C.G.P.A और इंटरमीडिएट की परीक्षा में 91 प्रतिशत अंक लाकर कॉलेज का नाम भी रोशन किया है। राव अबूबकर नीट परीक्षा में पास होने का पूरा श्रेय अपने सभी टीचर्स के साथ साथ अपने माता पिता को भी देते हैं। जिन्होंने उन्होंने कोटा भेजने का निर्णय लिया। राव अबूबकर अब डॉक्टर बनकर लोगों की सेवा करना चाहते हैं उन्होंने बताया कि उनका गांव सबसे पिछड़े क्षेत्र में आता है इसलिए यहां पर चिकित्सा सुविधाएं बेहद खराब है उन्होंने शुरू से ही डॉक्टर बनकर सेवा करने का मन बना लिया था

राव अबूबकर ने नीट

इसलिए अब वह डॉक्टर बनना चाहते हैं जिसके लिए उनके माता माता पिता ने भी उनकी हिम्मत बढ़ाई है और पूरा आश्वासन दिया है कि वह उनकी पूरी पढ़ाई कर आएंगे उन्होंने बताया कि पढ़ाई के दौरान काफी कठिनाइयां सामने आई लेकिन उन्होंने सबका हौसले के साथ मुकाबला किया और सभी परेशानियां दूर होती चली गई आप डॉक्टर बनने के बाद वह लोगों की खिदमत को अंजाम देंगे।अबूबकर ने बताया कि उन्होंने नीट परिक्षा की तैयारी कोटा से की थी।

जिसके लिए उन्होंने दिन रात मेहनत की थी। राव अबूबकर के नीट परीक्षा पास करने पर गांव के सभी लोगों ने उन्हें मुबारकबाद दी है वहीं सभी राजनीतिक दलों के लोगों ने भी उन्हें बधाई दी है।अबूबकर को मुबारकबाद देने वालों में भाजपा विधायक सुरेश राठौर, भाजपा के वरिष्ठ नेता सुबोध राकेश,कांग्रेस नेता एसपी सिंह, भाजपा विधायक देशराज कर्णवाल, कांग्रेस विधायक ममता राकेश, कांग्रेसी नेता श्रीमती ब्रिजरानी, बसपा नेता मदनलाल के अलावा सभी लोग उन्हें घर पहुंचकर बधाई दे रहे हैं। वहीं अबूबकर के पिता राव सऊद का कहना है कि उनका मकसद बच्चों को अच्छी तालीम दिलाना है। तालीम हासिल करने के लिए कुछ भी करना पड़े वो इससे पीछे नहीं हटेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.