ढंडेरा में क्षत्रिय समाज के दीपावली और सम्मान समारोह में उठी क्षेत्रीय विधायक बनाने की मांग, उदय पुंडीर ने कहा क्षेत्र का नहीं हुआ आज तक कोई विकास

आरिफ नियाज़ी

उत्तराखंड में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज़ी से बढ़ने लगी है।खानपुर विधानसभा की बात की जाए तो इस बार कांग्रेस पार्टी क्षत्रिय समाज पर दांव लगा सकती है जिसकी झलक आज अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा की ओर से आयोजित दीपावली एवं सम्मान समारोह कार्यक्रम में भी देखने को मिली वैसे तो इस कार्यक्रम में सर्व समाज के लोगों को न्योता दिया गया था लेकिन कार्यक्रम में क्षत्रिय समाज के लोगों की संख्या बहुत अधिक थी कांग्रेस कमेटी के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य उदय पुंडीर द्वारा आयोजित ये कार्यक्रम काफी सफल भी रहा।

ढंडेरा में क्षत्रिय

इस मौके पूर्व राज्यमंत्री एवं बीएसएम डिग्री कॉलेज के डायरेक्टर मनोहर लाल शर्मा ने कहा कि देश मे क्षत्रिय समाज के योगदान को कभी नहीं भुलाया जा सकता क्षत्रिय समाज की रगों में आज भी वही खून बह रहा है। जो देश को आज़ाद कराने में था क्षत्रिय समाज ने देश मे आपसी सौहार्द को हमेशा बढ़ावा दिया और देश को आगे बढ़ाया। इस मौके पर जिला पंचायत सदस्य बबलू राणा ने कहा कि इस बार वो ढंडेरा गांव के व्यक्ति को विधायक बनाना चाहते हैं जिसमें सभी के सहयोग की आवश्यकता होगी उन्होंने कहा कि आज तक ढंढेरा गांव का विकास नहीं हो सका है टूटी सड़कें हादसों को दावत दी रहीं हैं जगह जगह गंदगी के ढेर लगने से लोग परेशान हैं।

कार्यक्रम के आयोजक उदय पुंडीर ने कहा कि इस बार क्षेत्र की जनता अपने ही क्षेत्र के व्यक्ति को विधायक देखना चाहती है क्षेत्र का व्यक्ति ही यहां की सम्याओं का समाधान करा सकता है पुंडीर ने कहा कि अब गांव और आस पास के लोग भी अपने क्षेत्र का ही विधायक देखना चाहते है क्योंकि आज तक भी इस क्षेत्र का विकास नहीं हो पाया है जिसके ज़िम्मेदार यहां के जनप्रतिनिधि हैं।उन्होंने विकास ना करने का आरोप क्षेत्रीय विधायक पर विकास ना करने का आरोप भी लगाया।

कार्यक्रम में कुंवर जावेद इकबाल, आदेश शर्मा,राकेश चौहान,राजेन्द्र सिंह रावत,गोपाल नारसन,मास्टर धर्मपाल,बिट्टू शर्मा,सचिन चौधरी, ठाकुर वीरेंद्र सिंह,ठाकुर राजेंद्र सिंह,डॉ. प्रेम सिंह रावत ,सिंधु सागर महाराज, दुर्गा थापा, संग्राम सिंह, मतवार सिंह रावत, बिजेंदर हमदान, राकेश चौहान,हेमंत बटवाल, राजेंद्र रावत, राजीव शर्मा, संजीव कुशवाह, त्रिलोक सिंह, सेठ पाल परमार, संजय कुमार, घनश्याम गुप्ता ,हरीश डिमरी, रमेश सिंह चौहान, संजय शुक्ला, राकेश भट्ट, शिवचरण पुंडीर अनिल पुंडीर दिवेश शर्मा, रूप सिंह, कृष्ण पाल सिंह, बिट्टू शर्मा, सचिन चौधरी ,बबलु राणा, सत्येंद्र राणा, संदीप राणा, रणधीर सिंह राणा, रामपाल चौहान ,रवि तोमर, संजीव शर्मा,अजय कौशिक, ओमपाल सिंह ,अरुण सिंह, अब्दुल वाहिद, रामभरोसे ध्यानी, शेर सिंह रावत, रमेश सिंह बिष्ट, भूपेंद्र राणा, प्रवीण कुमार,शुभम राणा,आदि को प्रशस्तिपत्र और शॉल देकर समानित भी किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.